Wednesday, February 28, 2024
Homeकुशीनगरहाटान्यू इंडिया शुगर मिल हाटा चीनी मिल द्वारा गोष्ठी में किया गया...

न्यू इंडिया शुगर मिल हाटा चीनी मिल द्वारा गोष्ठी में किया गया ऑटोमेटिक प्लांटर का वितरण

सुरेशचन्द गांधी पप्पू हाटा संवाददाता

एएमटी न्यूज कुशीनगर हाटा चीनी मिल के अंतर्गत गन्ना खेती में मशीनीकरण द्वारा अधिक से अधिक गन्ना उत्पादन लेने हेतु चीनी मिल तथा प्रैगमेटिक्स रिसर्च एंड एडवाइजरी सर्विस प्रा लि नई दिल्ली द्वारा गन्ना बुवाई हेतु केन प्लांटर का वितरण चीनी मिल द्वारा किसान गोष्ठी में किया गया जिसके क्रम में चीनी मिल द्वारा बनाए गए एटीएसपी को चीनी मिल के अधिशासी अध्यक्ष करन सिंह द्वारा 10 एटीएसपी को प्लांटर का वितरण किया गया गोष्ठी को संबोधित करते हुए अधिशासी अध्यक्ष करन सिंह द्वारा चीनी मिल में किसानों के समक्ष आने वाली चुनौतियों के संबंध में बताया कि चीनी मिल क्षेत्र में पहले अधिक जल भराव से किसानों के गन्ना की फसल सूख जाती थी इसके लिए चीनी मिल द्वारा लगभग 350 किलोमीटर नालों की सफाई कराई गई है अधिशासी अध्यक्ष ने कहा कि हम क्या करें कि गन्ना की पैदावार 400 कुंतल पैदावार प्राप्त हो इसके लिए हमने प्रैगमेटिक्स टीम को शामिल किया है प्रैगमेटिक्स के कर्मचारियों की देखरेख में यह सभी कार्य हो रहा है हम अभी भी पुरानी तकनीक से खेती कर रहे हैं हम मशीनीकरण को खेती में ला रहे हैं जो खेत की तैयारी से लेकर गन्ना बुवाई एवं कटाई तक का कार्य मशीनों से होगा जिसके लिए मशीनों में बदलाव कराया जा रहा है इसके लिए हमारे साथ अनुभवी व्यक्तियों की टीम है जो अधिक गन्ना उत्पादन के लिए हमें मार्गदर्शन देगी हमारा प्रयास होगा कि गन्ना खेती में लागत कम हो और लाभ अधिक प्राप्त हो इसके लिए हमें कुछ कार्य करने होंगे। जैसे बुवाई का तरीका बदलना, बुवाई कम से कम 4 फीट की दूरी पर गन्ना की बुवाई करें ।इससे अधिक मात्रा में गन्ने बनेंगे और हमारा उत्पादन बढ़ेगा दो आंख के टुकड़ों का प्रयोग, स्वस्थ गन्ना बीज, बीज उपचार ,भूमि उपचार गन्ना की बधाई , पेड़ी प्रबंधन इसके लिए हमने एटीएसपी की एक टीम बनाकर उसे प्रशिक्षित किया गया है खेती में आमदनी बढ़ाने के लिए सहफसली खेती को बढ़ावा देने के लिए गन्ने के साथ गेहूं की बुवाई कर आप 15 से 18 कुंतल अतिरिक्त पैदावार प्राप्त कर सकते हैं। हम एक ऐसे मोबाइल ऐप का निर्माण करा रहे हैं जो OLA की तरह कार्य करेगा।डॉक्टर दुष्यंत बादल मैनेजिंग डायरेक्टर प्रैगमेटिक्स रिसर्च एंड एडवाइजरी सर्विस प्रा ली नई दिल्ली द्वारा उपस्थित किसान भाइयों को अधिक उत्पादन एवं मशीनीकरण के संबंध में विस्तार पूर्वक समझाया। कि कैसे किसान अपने आमदनी को बढ़ाकर अधिक लाभ प्राप्त कर सकता है। डॉक्टर धर्मवीर यादव पूर्व वैज्ञानिक भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान द्वारा मृदा स्वास्थ्य के महत्व और गन्ना खेती में उर्वरकों के प्रयोग के बारे में बताया । गोष्ठी को संबोधित करते हुए सहायक उपाध्यक्ष गन्ना पुष्पेंद्र ढाका ने मशीनीकरण कार्यक्रम की सफलता की शुभकामनाएं दी। वहीं गोष्ठी को संबोधित करते हुए उपाध्यक्ष गन्ना सुरेंद्र उपाध्याय ने कहा कि हम जब भी किसी गांव में मीटिंग के लिए जाते हैं तो किसान कहता है कि गन्ना कैसे बोए लेबर नहीं है इसके लिए चीनी मिल द्वारा गन्ना खेती में मशीनीकरण को लाया जा रहा है। मंच पर उपस्थित अतिथियों में ओएन मिश्रा उपाध्यक्ष उत्पादन, वीएस मिश्रा महाप्रबंधक तकनीकी ,तथा उपाध्यक्ष वित्त राजेश गुप्ता, गया शंकर शर्मा, महेश तिवारी आदि उपस्थित रहे मंच का संचालन डी डी सिंह द्वारा किया गया गोष्ठी में चीनी मिल द्वारा बनाए गए एटीएसपी तथा प्रगतिशील किसान उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments