Wednesday, February 28, 2024
Homeकसयामतांतरण का खेल -उपजिलाधिकारी कसया योगेश्वर सिंह ने किया जांच

मतांतरण का खेल -उपजिलाधिकारी कसया योगेश्वर सिंह ने किया जांच

राज पाठक कसया संवाददाता

  • 👉मतांतरण की शिकायत के बाद एसडीएम कसया योगेश्वर सिंह व नायब तहसीलदार कसया शैलेश सिंह ने गांव में पहुचकर ग्रामीणों से लगायत प्रार्थना सभा में उपस्थित लोगो से बड़ी बारीकी से पूछताछ कर लिखित बयान किया दर्ज

एएमटी न्यूज कुशीनगर कसया थाना के कुड़वा दिलीपनगर के टोला धन्निपट्टी में जिलाधिकारी कुशीनगर के निर्देश और आरएसएस के जिला संघचालक डॉ सीएस सिंह की शिकायत पर पहुचे उपजिलाधिकारी योगेश्वर सिंह और नायाब तहसीलदार ने ब्यान दर्ज किया और रिपोर्ट बनाया।सोमवार को पुलिस ने जर्मन नागरिक सहित सात लोगो को हिरासत में लिया था।बीती रात ही सभी आरोपियों को जमानत पर छोड़ दिया गया।मामला तब और गंभीर हो गया जब आर एस एस के जिला संघ चालक डॉ चंद्रशेखर सिंह ने प्रदेश नेतृत्व के संज्ञान में डाल दिया।मंगलवार को सुबह उपजिलाधिकारी कसया योगेश्वर सिंह और नायाब तहसीलदार कसया शैलेश सिंह ने गांव में पहुचकर ग्रामीणों से लगायत प्रार्थना सभा में उपस्थित ग्रामीणों से बड़े बारीकी से पूछताछ किये और लिखित बयान भी दर्ज किया।धनिपट्टी निवासी उमापति पाण्डेय से नायाब तहसीलदार ने विधिवत घंटो पूछताछ किया और लिखित बयान पर हस्ताक्षर कराया।उमापति पाण्डेय ने ग्रामीणों के सामने नायाब तहसीलदार को बताया कि जर्मनी,केरला और बंगलौर से आये लोग हैड्रोफोनिक विधि से हरा चारा उगाने के बारे में पशुपालको को हमारे मिल पर बता रहे थे।मीटिंग का आयोजन मैंने ही किया था।कल हमारे फैक्टरी पर सबसे पहले मीटिंग हुई।इसके बाद धनिपट्टी गांव के उत्तर हरिजन बस्ती के समीप नहर के किनारे बगीचे में राजेश्वर सिंह के बुलाने पर मीटिंग हुयी।मीटिंग में हैड्रोफोनिक विधि से चारा उगाने और पशुओं की देखभाल करने के बारे में विस्तार से बताया गया।इसी बीच गांव के ही संजय सिंह कौशिक वहा पहुच गये और प्रजेंटेशन देने लगे अतुल चौबे से बहस होने लगा।विवाद में ग्रामीणों ने धर्मांतरण करने का आरोप लगाया।विवाद के बीच सुचना पर पहुची मुकामी पुलिस ने सात लोगो को हिरासत में ले लिया। प्रार्थना सभा में उपस्थित उमापति पांडेय पुत्र सूर्यनाथ पांडेय,प्रियंका पत्नी कैलाश,सीमा पत्नी अमितेश,ब्यास पुत्र मिठाई प्रसाद के लिखित बयान दर्ज किया गया।प्रार्थना सभा में उपस्थित सभी लोगो ने अपने बयान में कहा कि हमलोगों को उमापति पांडेय और राजेश्वर सिंह मीटिंग के लिए बुलाये थे।मीटिंग में पशु शेड, हैड्रोफोनिक विधि से चारा उगाने के बारे में विस्तार से बताया गया। डाइड्रोफोनिक विधि में ट्रे में चारा उगाकर पशुओं को खिलाया जाता है।उमापति पांडेय ने ही अपनी पत्नी पुष्पा पांडेय के नाम से पशुआहार बनाने का मिल लगा रखा है।जिसका उद्घाटन फादर ने महीनो पूर्व किया था।जिसमे उमापति पांडेय ने बड़ा सा भोज कार्यक्रम भी रखा था।जिसमे सैकड़ो ग्रामीणों को भोजन कराया गया था।मिल का नाम खुशहाली मिल्क प्रोड्यूसर कंपनी KMPCL रखा गया है जो एक ऍफ़ पी ओ से जुड़ा हुआ है।जिसको पूर्वांचल ग्रामीण सेवा समिति गोरखपुर संचालित करती है।पूर्वांचल में कुल 54 से 55 ऍफ़ पी ओ है जो 19 जिलो में काम करते है।पूर्वांचल ग्रामीण सेवा समिति द्वारा पैसा और पशु आहार बंनाने की मशीन दी जाती है।जिसकी कीमत 5 लाख 75 हजार है जो पूरी तरह से दान स्वरूप दिया जाता है।मील से संस्थान से जुड़े सदस्यो को डिस्काउंट पर पशु आहार दिया जाता है।कसया और आस पास के सभी इकाइयों को मदनपुर स्थित धर्मोदय विद्या विहार से नियंत्रित किया जाता है।जबकि ब्यान में प्रियंका पत्नी कैलाश ने बताया कि मार्च में जो प्रार्थना सभा हुयी थी उसमें धर्मान्तरण के बारे में बताया गया था।जब गांव के लोगो ने हमको समझाया तो हमलोगों ने ऐसे मीटिंग में जाना छोड़ दिये।इस संबंध में शिकायत करता डॉ सी एस सिंह ने कहा कि धर्मान्तरण का काम हो रहा है।यदि समय रहते इसे नही रोका गया तो आम जनमानस एक न एक दिन अवश्य प्रभावित होगा।अभी जर्मन के लोग आकर गावो में ऐसा काम कर रहे है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments