Thursday, February 22, 2024
Homeरामकोलाअघोषित बिजली कटौती से जनमानस बेहाल - रामचन्द्र सिंह

अघोषित बिजली कटौती से जनमानस बेहाल – रामचन्द्र सिंह

एएमटी न्यूज टीम कुशीनगर

एएमटी न्यूज जनपद कुशीनगर में बिजली की अघोषित कटौती से जनमानस बेहाल और परेशान है। इस उमस भरे मौसम में लोगों का ठीक से जीना मुश्किल हो गया है। पूरे जनपद में अघोषित बिजली कटौती को लेकर त्राही माँम त्राही माँम मचा हुआ है और जगह जगह से शिकायत प्राप्त हो रहे है। एक तरफ तो उत्तर प्रदेश सरकार के मुखिया परम् आदरणीय योगी आदित्यनाथ का दावा है कि, “प्रदेश में बिजली की निर्बाध आपूर्ति के सपने को सुनिश्चित कर रही है उत्तर प्रदेश सरकार, जनपद मुख्यालयों पर 20-22 घंटे, ग्रामीण क्षेत्र में 18-19 घंटे” मगर ठीक इसके विपरीत बिजली की अघोषित कटौती से शहरी और ग्रामीण क्षेत्र की जनता में आक्रोश देखने को मिल रहा है। जब सरकार का आदेश है कि, पूरे प्रदेश के जनपद मुख्यालयों पर 20-22 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में 18-19 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है तो फिर इस रोस्टर से बिजली की आपूर्ति जनपद कुशीनगर में क्यों नही की जा रही है? यदि विधुत विभाग सरकार के आदेशानुसार बिजली आपूर्ति देने में सक्षम नही है तो शासन को अवगत करावे कि, इन-इन कारणों के वजह से हमारा विभाग बिजली आपूर्ति सरकार के मंशा के अनुरूप नही कर सकता है? इस अघोषित बिजली कटौती से सरकार की छवि भी घूमिल हो रही है। उक्त बातें भारतीय किसान यूनियन (अ) की जिला इकाई, कुशीनगर के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया है। आगे जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने सूबे के मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ जी से माँग किये है कि, यदि जनपद में बिजली की आपूर्ति को सरकार के आदेशानुसार नही हुआ तो हमारा यूनियन सड़क पर आने के लिये होगा मजबूर जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments